|

शेफ विकास की ये स्पेशल ठंडाई की रेसिपी जो गर्मी से देगी राहत – समर स्पेशल

नमस्कार दोस्तों आज में आपके लिए ठंडाई एक पारंपरिक भारतीय ड्रिंक है जो उत्तर भारतीय राज्यों यूपी और राजस्थान में लोकप्रिय है और विशेष रूप से होली के त्योहार के लिए बनाया जाता है। ठंडाई दूध, काली मिर्च, बादाम, सौंफ, खसखस, इलायची, केसर और गुलाब से बना एक ताज़ा भारतीय पेय है। यह होली के त्योहार के दौरान विशेष रूप से परोसा जाता है। चलिए पूरी रेसिपी देखते है –

सामग्री ठंडाई

  • 10-12 साबुत बादाम
  • 10-12 साबुत काजू
  • 25-30 साबुत काली मिर्च
  • 10-12 साबुत किशमिश
  • 10-12 साबुत हरी इलायची
  • 1 चम्मच खसखस ​​(यदि उपलब्ध न हो तो छोड़ दें)
  • 1 चम्मच सौंफ के बीज
  • 1 चम्मच खरबूजे के बीज
  • 1 चुटकी केसर
  • 4 कप साबुत दूध (या मलाई निकाला हुआ, कम वसा वाला या वनस्पति युक्त दूध)
    कप दानेदार चीनी (या स्वाद के लिए)
  • ½ छोटा चम्मच गुलाब जल

बनाने का तरीका

स्टेप 1 : एक बाउल में बादाम, काजू, काली मिर्च, किशमिश, छोटी इलाइची, खसखस, सौंफ, खरबूजे और केसर डालें।
प्याले में ½ कप पानी डालकर काउंटर पर 5-6 घंटे या रात भर के लिए रख दीजिए।

स्टेप 2 : भीगी हुई सामग्री को बचे हुए पानी के साथ ब्लेंडर में डालें और एक महीन पेस्ट बनाने के लिए ब्लेंड करें। ब्लेंड करते समय यदि आवश्यक हो तो 2-3 बड़े चम्मच दूध डालें। ब्लेंड करते समय ब्लेंडर के किनारों को कुछ बार खुरचें। पेस्ट को अलग रख दें।

स्टेप 3 : मध्यम आँच पर एक भारी तले के पैन में दूध गरम करें। झुलसने से बचाने के लिए बार-बार हिलाएं। जब दूध में उबाल आ जाए तो इसमें जो पेस्ट हमने पहले बनाया था उसमें चीनी और गुलाब जल मिलाएं। 2-3 मिनट तक पकाएं। बार-बार हिलाएं।

स्टेप 4 : चीनी की जाँच करें और यदि आवश्यक हो तो और डालें और एक और मिनट के लिए पकाएँ। पैन को आँच से हटा लें और मिश्रण को 10 मिनट तक ठंडा होने दें।

स्टेप 5 : स्टेप फ्लेवर के पिघलने के लिए दूध के मिश्रण को 3-4 घंटे के लिए फ्रिज में रख दें।अब मिश्रण को एक महीन-जाली वाली छलनी से गुजारें और बचा हुआ गूदा त्याग दें।

स्टेप 6 : ठंडाई को सर्विंग ग्लास में डालें। गुलाब की पंखुडि़यों और कटे हुए सूखे मेवों से सजाएं। ठंडा परोसें।

नोट –

  • अगर आप जहां रहते हैं वहां बहुत गर्मी है, तो कमरे के तापमान पर 3-4 घंटे के लिए भिगो दें और फिर भीगे हुए मेवों को 2-3 घंटे के लिए फ्रिज में रख दें।
  • सामग्री को ठीक से मापना सुनिश्चित करें क्योंकि अनुपात अंतिम स्वाद में बहुत अंतर करते हैं।
  • ठंडाई को छानने के लिए महीन जाली वाली छलनी का प्रयोग करें। हम नहीं चाहते कि पीते समय नट्स के मसाले के टुकड़े हमारे मुंह में आ जाएं।
  • यह नुस्खा आसानी से दोगुना या तिगुना किया जा सकता है।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *