in

Home Gardening : शहर में अपने घर की छत पर बनाये मिनी वर्टिकल फार्म , बिना मिट्टी के उगाएं रोजाना की सब्जियां

Home Gardening Tips : श्रीनगर के हजरतबल में रहने वाले 27 साल के आशिक जिन्होंने अपने एक दोस्त से सीखा कि सब्जियाँ बिना मिट्टी के और पोषक तत्वों से भरपूर पानी में कैसे उगाई जा सकती हैं। खेती की यह नई तकनीक, जो घाटी में तेजी से लोकप्रिय हो रही है, हाइड्रोपोनिक्स या मिट्टी रहित खेती के रूप में जानी जाती है।

बता दे की आशिक आज के समय में पालक, धनिया, पुदीना और अन्य सब्जियाँ उगा रहे हैं जिनमें से अधिकांश 45 दिनों में तैयार हो जाती हैं वो अब घर पर PVC प्लास्टिक पाइप में अपने परिवार के खाने भर की सब्जियाँ उगा लेते हैं।

ये भी पढ़े : Kitchen Cleaning Tips : अब बिना मेहनत सिर्फ 1 रु के शैंपू से चमक जाएगा किचन का गन्दा सिंक , जाने कैसे ?

बिना मिट्टी छत पर उगाएं फल-सब्जी, सालाना लाखों में कमाएं – News18 हिंदी

इस खेती के लिए क्या है जरुरी

आशिक ने बताया की ” जब मुझे पता चला कि हाइड्रोपोनिक्स में बहुत अधिक जगह की ज़रूरत नहीं होती है और पोषक तत्वों से भरपूर पानी के लिए मुझे केवल दस PVC पाइप, एक स्टैंड और एक मोटर की ज़रूरत होती है तो उन्होंने तुरंत अपने आंगन के एक हिस्से को हाइड्रोपोनिक फार्म में बदल दिया और आज उसमे सब्जियाँ उगा रहे हैं।

कितना होता है इस खेती में खर्चा

हाइड्रोपोनिक फार्म स्थापित करने के लिए केवल 25,000 रुपये खर्च करने पड़े उन्होंने कहा “मैंने पहले ही चार बार साग खन्यारी की कटाई की है और हमारे परिवार के लिए पर्याप्त है। हम कई हफ्तों तक उनकी पत्तियाँ तोड़ सकते हैं साथ ही आने वाले दिनों में, हम पालक और फिर पुदीना और धनिया की कटाई करेंगे। इसके लिए उन्हें जम्मू-कश्मीर सरकार के कृषि विभाग से काफी सहयोग मिला।”

ये भी पढ़े : Gold Cleaning Tips : क्या आपकी सोने की झुमकी और टॉप्स पड़ गए हैं काले ?, तो इन घरेलू नुस्खों से चमका लें

Hydroponic Farming - जाने बिना मिट्टी की खेती के बारे मे

जाने कुछ जरुरी जानकारी

पौधों को पानी आधारित घोल से आवश्यक पोषक तत्व प्राप्त होते हैं इसमें नाइट्रोजन, पोटेशियम, कैल्शियम होता है और पानी के साथ मिलकर पौधों को जरूरी पोषक तत्व प्रदान करता है। एक मोटर-चालित प्रणाली पोषक तत्वों के घोल को पाइपों के माध्यम से प्रसारित करती है, जिससे पारंपरिक खेती के लिए भूमि की कमी वाले लोगों के लिए यह सुलभ हो जाता है। 

क्या है हाइड्रोपोनिक्स के फायदे 

हाइड्रोपोनिक्स के फायदों के बारे में बात करे तो इसमें कम मेहनत लगती है निराई भी नहीं करनी पड़ती, और इसे कहीं भी लगाया जा सकता है। यहाँ तक कि मेरे जैसे खेती के बारे में सीमित जानकारी रखने वाले लोग भी आसानी से चीजें उगा सकते हैं। यह कश्मीर की सर्दियों के लिए एक आदर्श तकनीक है, क्योंकि फसलों को बर्फबारी से सुरक्षित रखा जा सकता है और आसानी से हटाया जा सकता है।

ये भी पढ़े : Home Gardening Hacks : इन ट्रिक्स के साथ बिना मिट्टी के घर पर उगाएं हरा धनिया , जो बढ़ा देगा खाने का स्वाद

हाइड्रोपोनिक्स खेती के लिए एक शुरुआती गाइड: बीज से फसल तक - Wikifarmer

कैसे लगायी जाती है इसकी फसल

इस मिट्टी रहित खेती में उगाए जाने वाले पौधों के बीजों को एक सप्ताह से अधिक समय तक अंकुरित किया जाता है और फिर PVC पाइपों में लगाया जाता है, जहाँ पोषक तत्वों से भरपूर पानी का संचलन उन्हें स्वस्थ रखता है। इसमें हमें केवल पानी, उसके लिए विशिष्ट पोषक तत्वों और समय-समय पर पानी को प्रसारित करने वाली बिजली के प्रति सचेत रहना है।

यह जल परिसंचरण पौधों को पोषक तत्व और ऑक्सीजन प्रदान करता है। एक दिन में कुछ घंटे की बिजली काम करने के लिए पर्याप्त है। इन सब्जियों की देखभाल के लिए दिन में सिर्फ 20-30 मिनट ही काफी हैं और इस तरह से उगाए गए उत्पाद बीमारी के प्रति कम संवेदनशील होते हैं। हाइड्रोपोनिक्स में पारंपरिक मिट्टी आधारित खेती की तुलना में काफी कम पानी का उपयोग होता है।

ये भी पढ़े : Tips For Curry Plant : अगर नहीं बढ़ रहा है करी पत्ते का पौधा , तो इन आसान तरीकों से दोगुनी हो जाएगी ग्रोथ

छोटे से वेजिटेबल गार्डन में उगाने के लिए बेस्ट सब्जियां - Top Crops For Small Vegetable Garden In Hindi

Written by Ritu

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Home Gardening Hacks : इन ट्रिक्स के साथ बिना मिट्टी के घर पर उगाएं हरा धनिया , जो बढ़ा देगा खाने का स्वाद

Gardening Tips : अब अपने घर पर उगा लें दुनिया का सबसे महंगा बादाम , जाने कैसे और कितने का मिलता है ये पौधा